IPC ( Indian Penal Code) Act 1860

IPC ( Indian Penal Code), 1860

भारतीय दण्ड संहिता, 1860




 Note- 1 511 धारा तथा 23 अध्याय है।
  Note-2 बनाने वाला- लार्ड मैकाले
 Note- 3 लागू हुआ- 01 जनवरी 1862
  Note-4 जम्मू कश्मीर को छोड़कर सभी जगह लागू है जम्मू कश्मीर में इसके स्थान पर (RPC )रणबीर दण्ड संहिता लागू है।
दण्ड 5 प्रकार का होता है-
1 मृत्युदण्ड
2 आजीवन कारावास
3 कारावास (कठोर कारावास, साधारण कारावास
4 सम्पत्ति जब्त करना
5 जुर्माना लगाना
धारा परिचय
57 आजीवन कारावास
54 मृत्युदंड दण्डादेश का लघुकरण ( समुचित सरकार द्वारा आपराधी के सम्मति के बिना अन्य दण्ड में लघुकरण करना।
80 दुर्घटना अपराध नही
82 7 साल से कम आयु का शिशु अपराधी नही माना जायेगा।
83 7 साल से ऊपर तथा 12 साल से कम आयु का बालक जो परिपक्क न हो  अपराधी नही माना जायेगा।
97 शरीर की प्राइवेट सुरक्षा या सम्पत्ति की सुरक्षा का अधिकार
100 शरीर की प्राइवेट सुरक्षा में murder करना ( माफ किया जायेगा )
103 सम्पत्ति की सुरक्षा में murder करना ( माफ किया जायेगा )
120 B अपराध करने का षड्यंत्र
124A राजद्रोह या देशद्रोह
141 विधि विरुद्ध जमाव का परिभाषा (5 व्यक्तियों का एक साथ जमाव नही हो सकता)
152 विधि विरुद्ध जमाव का सदस्य होना
159 दंगा ( 2 या अधिक व्यक्तियों द्वारा शांति भंग करना)
171E रिश्वत लेना या देना
191 झूठी गवाही देना
201 सबूत मिटाना
255 सरकारी स्टाम्प के साथ धोखाधड़ी
292 अश्लील पुस्तकों को बेचना
302 हत्या
304B दहेज हत्या
306 आत्महत्या के लिये प्रेरित करना
307 हत्या की कोशिश करना
309 आत्महत्या की कोशिश करना
310 ठगी करना
312 गर्भपात करना
323 चोट पहुंचाना
324 हथियार से चोट पहुचाना
325 बहुत अधिक घातक चोट पहुचाना
326A तेजाब फेकना
354 स्त्री लज्जाभंग
363 अपहरण करना
364 अपहरण करना या कैद करना जिससे मृत्यु हो जाये
364A फिरौती के लिये अपहरण करना
366 नाबालिक लड़की को ले भागना
376 बलात्कार
376D सामूहिक बलात्कार
377 अप्राकृतिक कृत्य (Unnatural सम्बन्ध बनाना)
378 चोरी करना
384 धमकी
390 लूट (1 या अधिक लोगों द्वारा)
391 डकैती को परिभाषित ( 5 या अधिक लोगों द्वारा)
396 डकैती के समय मृत्यु
406 धोखाधड़ी
412 छीनाझपटी
417 छल करना
447 जमीन हड़पना
463 जालसाजी Forgery
498A अपनी स्त्री पर अत्याचार
499 मानहानि
511 आजीवन कारावास से दंडनीय अपराधों को करने के प्रयत्न के लिए दंड
Note-  मृत्युदण्ड की धाराये- 121, 132, 194, 302, 305, 307, 364A, 396

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *